गिलोय के चमत्कारी फायदे , सेवन विधि और नुकसान Benefits of Giloy in Hindi

गिलोय के फायदे
Giloy / Guduchi Juice (Tinospora cordifolia) with fresh leaves and stems

गिलोय के फायदे , सेवन विधि और नुकसान । Benefits of Giloy in Hindi. गिलोय जूस पीने से मिलता है आश्चर्य फायदे। गिलोय की लकड़ी के फायदे के बारे में जानकारी।

गिलोय के पेड़ का उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा में प्राचीन काल से व्यापक रूप से किया जाता रहा है।

गिलोय के पेड़ विभिन्न स्वास्थ्य समस्याओं का समाधान हैं। अपने औषधीय गुणों के कारण, गिलोय का उपयोग सदियों से भारतीय चिकित्सा में किया जाता रहा है।

गिलोय जड़ी बूटी का प्रयोग प्रायः सभी रोगों को ठीक करने के लिए किया जाता है।

आपको यह सुनकर आश्चर्य होगा कि संस्कृत में इसे “अमृत” कहा जाता है जिसका अर्थ है “अमरता सुधा“।

गिलोय के पेड़ मूल रूप से भारतीय उपमहाद्वीप में पाए जाते थे। श्रीलंका, चीन, भारत, बांग्लादेश, म्यांमार और दक्षिण एशिया के अन्य देशों में भी पाया जाता है।

वैज्ञानिक नाम: टिनोस्पोरा कॉर्डिफोलिया।

सामान्य नाम: गिलय, गुलाच, गुरुची, गुलबेल, दिल की पत्ती वाली चांदनी, टिनोस्पोरा।

संस्कृत नाम: अमृता, तांत्रिका, कुंडलिनी, चक्रलक्ष्मी।

यह भी पड़े : सेब खाने के जबरदस्त ७ फायदे और इसके स्वास्थ लाभ के बारे में जानिए।

गिलोय के फायदे ब उपयोग Uses and Benefits of Giloy in Hindi

गिलोय के फायदे ( Giloy Ke Fayde ) नीचे विस्तार से बताया गया है।

  • रोग प्रतिरोधक क्षमता

गिलोय शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में अहम भूमिका निभाता है। इसमें शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जो रक्त को शुद्ध करते हैं, विषाक्त पदार्थों को हटाते हैं और रोगजनक बैक्टीरिया और मुक्त कणों से लड़ते हैं। यह हृदय रोग और मूत्र पथ के रोगों को रोकने में काफी कारगर है।

  • वजन कम करने के लिए निगलें

गिलोय एक हाइपोलिपिडेमिक के रूप में काम करता है और अगर इसे नियमित रूप से लिया जाए तो यह वजन घटाने में अच्छा काम करता है। शरीर की पाचन प्रक्रिया को बेहतर बनाने में मदद करता है और लीवर की सुरक्षा करता है।

  • पुराने बुखार का इलाज

गिलोय पारंपरिक रूप से पुराने बुखार के इलाज के लिए प्रयोग किया जाता है। विभिन्न जानवरों पर इसे लगाने से गुलाच की ज्वरनाशक प्रभावकारिता के प्रमाण मिले हैं। गिलोय में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी प्रक्रियाएं होती हैं और इसमें एंटीबायोटिक घटक होते हैं। यह डेंगू बुखार जैसे संक्रमण से बचाता है।

  • मधुमेह की रोकथाम:

गिलोय हमारे रक्त शर्करा के स्तर को ठीक करता है। यह मधुमेह के रोगियों के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है। यह शरीर में ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करता है, प्राकृतिक इंसुलिन स्राव को बढ़ाता है। यह मधुमेह में प्रभावी है क्योंकि यह इंसुलिन के प्रति प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सक्षम है।

  • सांस की तकलीफ को रोकने के लिए

यह दिखाया गया है कि पुरानी खांसी, एलर्जिक राइनाइटिस के उपचार में निगलना प्रभावी है और अस्थमा के लक्षणों को कम करने में भी उपयोगी है।

  • महिलाओं के लिए

गिलोय महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है। खासकर मेनोपॉज के बाद। उस समय शरीर में तरह-तरह की समस्याएं पैदा हो जाती हैं। गिल में एंटीऑक्सीडेंट होते हैं। जो इस समय बहुत उपयोगी है। यह पत्ता ऑस्टियोपोरोसिस यानी हड्डियों के नुकसान को रोकने में भी कारगर है।

  • पुरुषों के लिए

गिलोय के सेवन से वीर्य क्षमता बढ़ाने वाले पुरुषों की यौन क्षमता या इच्छा बढ़ती है। जिन पुरुषों में कामेच्छा के लक्षण कम होते हैं वे इसे ले सकते हैं।

  • कैंसर की रोकथाम

कई अध्ययनों से पता चला है कि गिलोय का उपयोग इसके एंटीऑक्सीडेंट गुणों के लिए किया जा सकता है।

  • मानसिक स्वास्थ्य के लिए

गिलोय तनाव या चिंता को कम करने और चिंता को कम करने में कारगर है। यह दिमाग की याददाश्त को बढ़ाकर और सोच को स्थिर कर तनाव को कम करने में भूमिका निभाता है।

  • पाचन में सुधार के लिए

पाचन में सुधार के लिए यह एक अत्यधिक प्रभावी जड़ी बूटी है। इस जड़ी बूटी का उपयोग पेट की विभिन्न समस्याओं के उपचार में किया जाता है। ऐसे में आधा ग्राम गिलोय का चूर्ण थोड़ी सी आमलकी के साथ मिलाना चाहिए। साथ ही कब्ज होने पर इसे थोड़े से गुड़ के साथ मिलाकर खाना चाहिए।

यह भी पड़े : ग्रीन टी पीने के फायदे । Benefits of Green Tea in Hindi

गिलोय के सेवन विधि How to Take Giloy in Hindi

 

गिलोय के दुष्प्रभाव और सावधानी Side Effects  And Precautions of Giloy in Hindi

हम सभी जानते हैं कि किसी चीज के अति प्रयोग के कुछ दुष्परिणाम भी हो सकते हैं। इसी तरह गिलोय के अधिक सेवन से भी नुकसान हो सकता है।

यह ब्लड शुगर को कम करता है, इसलिए डायबिटीज की दवा लेने वालों को सावधान रहना चाहिए, नहीं तो ब्लड शुगर बहुत कम हो सकता है।

हालांकि, यह पाचक ऊर्जा के लिए मददगार पाया गया है, लेकिन इसके गर्म प्रभाव के कारण यह पेट से जुड़ी कुछ समस्याएं जैसे सीने में जलन और गैस की समस्या भी पैदा कर सकता है।

गर्भवती महिलाओं को इसे खाने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

यह भी पड़े : जानिए लहसुन के चमत्कारी फायदों के बारे में Wonderful Benefits of Garlic in Hindi

Conclusion

इस लेख में गिलोय के फायदे, सेवन विधि , नुकसान, और  सावधानी के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई गई है। अपने दोस्तो और फैमिली के साथ शेयर करे और गिलोय के जबरदस्त स्वास्थ्य लाभ लीजिए।

प्रातिक्रिया दे